IBPS RRB Hindi Language Questions 2021
IBPS RRB Hindi Language Questions 2021
NABARD Agriculture & Rural Development (ARD) Book PDF

IBPS RRB Hindi Language Questions 2021

RRB PO Hindi Language Book PDF. Hindi Language Book PDF for IBPS RRB. Objective General Hindi Book PDF. RRB PO/Clerk Mains Hindi Language Questions – अपठित गद्यांश. IBPS RRB Officer Scale-I study material in Hindi. If you are preparing for IBPS RRB PO/Clerk Mains 2021 exam, you will come across a section on the Hindi Language. Here we are providing you IBPS RRB PO/Clerk Hindi Language Questions, based on the latest pattern of your daily practice.

This “Hindi Language Questions for IBPS RRB Officer Scale-I & Assistant” is also important for other banking exams such as RRB Clerk and other competitive exams.

IBPS RRB Hindi Language Questions अपठित गद्यांश  | Set- 1


निर्देश  – नीचे दिए गए गद्यांश को ध्यानपूर्वक पढ़िए और उस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए। कुछ शब्दों को मोटे अक्षरों में मुद्रित किया गया है, जिससे आपको कुछ प्रश्नों के उत्तर देने में सहायता मिलेगी। गद्यांश के अनुसार, दिए गए विकल्पों में से सबसे उपयुक्त का चयन कीजिए।

यह शास्‍वत सत्‍य है कि भाषा, मनुष्य के भावों व विचारों के आदान-प्रदान का सशक्त साधन है। यह भी देखने में आया है कि संसार में जितने भी राष्ट्र हैं, प्राय: उनकी राजभाषा वही है जो वहां की संपर्क भाषा है तथा वही राष्‍ट्रभाषा है जो वहां की राजभाषा है। भारत विविधताओं से भरा देश है जहां अनेकता में एकता झलकती है, उदाहरण के तौर पर भारतीय उपमहाद्वीप के प्रत्येक राज्य में सुसंस्कारित एवं समृद्ध राज्‍य-भाषाएं एवं अनेक उपभाषाएँ बोली जाती हैं, अत: यह कहना समीचीन होगा कि भारत एक बहुभाषी राष्ट्र है। इस परिदृश्‍य में किसी एक भाषा को महत्‍व देना कठिन हो जाता है, लेकिन आजादी के बाद सभी भारतीय भाषाओं मे जो भाषा मनोरंजन, साहित्यिक एवं संपर्क भाषा के रुप में ऊभरी है वह हिंदी ही है।
आज हिन्दी को जिस रूप में हम देखते हैं उसकी बाहरी आकृति भले ही कुछ शताब्दियों पुरानी हो, किन्तु उसकी जड़ें संस्कृत, पाली, प्राकृत और अपभ्रंश रूपी गहरे धरातल में फैली हैं। व्याकरण की अत्यधिक जटिलता और नियमबद्धता के कारण इन अपभ्रंश भाषाओं से पुनः स्थानीय बोलचाल की भाषाओं का जन्म हुआ जिन्हें हम आज की आधुनिक भारतीय भाषाओं के रूप में जानते हैं।
हिन्दी भाषा के विकास की प्रक्रिया आधुनिक भारतीय भाषाओं के विकास के साथ ही प्रारंभ होती है। आजादी से पूर्व खड़ी बोली हिन्दी या हिन्दुस्तानी ही सामान्य बोलचाल की एकमात्र ऐसी भाषा थी जो किसी न किसी रूप में देश के ज्यादातर भागों में समझी और बोली जाती थी। अत: एक राष्ट्र और एक राष्ट्रभाषा की भावना यहां जागृत हो उठी और हिन्दी सबसे आगे निकलकर राष्ट्र भाषा, संपर्क भाषा और मानक भाषा बनती चली गई। इस अभियान में गांधी जी की भूमिका अहम रही जिन्होंने हिन्दी को राष्ट्रभाषा के रूप में राजनीतिक और सामाजिक मान्यता और संरक्षण प्रदान किया तथा इसका परिणाम यह रहा कि उत्तरी भारत में हिंदी साहित्य सम्मेलन और दक्षिण भारत में हिन्दी प्रचार सभा जैसी हिन्दी सेवा संस्थाओं का जन्म हुआ, जिसके माध्यम से हजारों अहिंदी भाषी भारतीयों ने स्वैछिक तौर पर हिन्दी को सीखना और अपनाना शुरू किया।
राजनीतिशास्‍त्र के कई विद्वानों ने इस बात को दोहराया है कि जब कोई देश किसी दूसरे देश को पराजित कर अपना गुलाम बना लेता है, तो वह पराजित देश की सभ्यता, संस्कृति, भाषा आदि को नष्ट करने का भरसक प्रयास करता है, पराधीन देश पर आक्रांताओं द्वारा अपनी भाषा को राजकाज की भाषा के रुप में जबरदस्ती थोपा जाता है ताकि पराधीन देश की आने वाली पीढ़ी यह भूल जाए कि वे कौन थे, उनकी संस्‍कृति एवं राजभाषा क्‍या थी। हिन्दी को राजभाषा का स्‍थान केवल इसलिए नहीं दिया गया कि वह देश की एक मात्र संपर्क भाषा है, बल्कि अंग्रेजी शासन को जड़ों से उखाड़ने के लिए यह आवश्‍यक हो गया था कि क्रांतिकारियों के बीच में कोई एक भाषा हो जिसमें वह अपनी बात एक दूसरे को समझा सके। यह वह दौर था जब देश अंग्रेजो के शासन से त्रस्‍त था, लोग आज़ादी के लिए तरस रहे थे। अंग्रेजी विदेशी भाषा थी, जो विदेशी शासन का अनिवार्य अंग थी, अंग्रेजी शासन का विरोध करने के साथ-साथ अंग्रेजी का विरोध करना या उससे संबंधित वस्तुओं का विरोध भी आवश्यक हो गया था।
अतः स्वाधीनता संग्राम के वक्त राष्‍ट्रीय नेताओं ने स्वदेशीपन या राष्ट्रीय भावना को जागृत करने का प्रयत्न किया। देशवासियों के बीच एकता का संचार करने वाली भाषा के रुप में हिन्दी ऊभर कर सामने आई। देश को आजादी मिलने के बाद यह सामने आया कि देश में संचार की भाषा कोई हो सकती है तो वह हिन्दी ही है। संपर्क या व्यवहार की भाषा के रूप में हिन्दी की अनिवार्यता पर ज़ोर दिया जाने लगा।

1. मनुष्य के भावों व विचारों के आदान-प्रदान का सशक्त साधन क्या है?

A. प्रकृति
B. लिपियाँ
C. भाषा
D. चित्रकला
E. इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – C. भाषा

2. गद्यांश के अनुसार, संसार में जितने भी राष्ट्र हैं, प्राय: उनकी राजभाषा कौन सी भाषा है? 

A. धार्मिक भाषा
B.  आधुनिक भाषा
C. क्षेत्रीय भाषा
D. संपर्क भाषा
E. इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – D. संपर्क भाषा

3. गद्यांश के अनुसार, किस परिदृश्‍य में किसी एक भाषा को महत्‍व देना कठिन हो जाता है? 

A. राजनैतिक परिदृश्य
B. धार्मिक परिदृश्‍य
C. बहुभाषी राष्ट्र परिदृश्‍य
D. भौगोलिक परिदृश्‍य
E. इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – C. बहुभाषी राष्ट्र परिदृश्‍य

4. गद्यांश के अनुसार, आजादी के बाद सभी भारतीय भाषाओं में जो भाषा मनोरंजन, साहित्यिक एवं संपर्क भाषा के रुप में ऊभरी है, वह भाषा कौन सी है? 

A. संस्कृत
B. बांग्ला
C. हिंदी
D. तमिल
E. इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – C. हिंदी

5. गद्यांश के अनुसार, किस व्यक्ति ने हिंदी को राष्ट्रभाषा के रूप में राजनीतिक और सामाजिक मान्यता और संरक्षण प्रदान किया?

A. सुभाष चन्द्र बोस
B. फादर कामिल बुल्के
C. भगत सिंह
D.  महात्मा गाँधी
E. इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – D.  महात्मा गाँधी

6. गद्यांश के अनुसार, जब कोई देश किसी दूसरे देश को पराजित कर अपना गुलाम बना लेता है, तो वह पराजित देश की सभ्यता, संस्कृति, भाषा आदि के साथ क्या व्यवहार करता है? 

A. अपनी सभ्यता, संस्कृति, भाषा के साथ आत्मसात करने का प्रयास करता है
B. नष्ट करने का भरसक प्रयास करता है
C. पराजित देश की सभ्यता, संस्कृति, भाषा के प्रति उदासीनता का भाव
D. परिष्कृत करने का प्रयास करता है
E. इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – B. नष्ट करने का भरसक प्रयास करता है

7. गद्यांश के अनुसार, स्वाधीनता संग्राम के वक्त राष्‍ट्रीय नेताओं ने किसे जागृत करने का प्रयत्न किया? 

A. क्षेत्रीय भावना
B. राजनैतिक भावना
C. धार्मिक भावना
D. राष्ट्रीय भावना
E.  इनमें से कोई नहीं

Show Correct Answers

Correct Answer – D. राष्ट्रीय भावना

8. गद्यांश के अनुसार, किसकी जड़ें संस्कृत, पाली, प्राकृत और अपभ्रंश रूपी गहरे धरातल में फैली हैं?

A. लिपि
B. बोली
C. भाषा
D. हिंदी
E. None of the above

Show Correct Answers

Correct Answer – D. हिंदी

9. गद्यांश में प्रयुक्त शब्द “ जटिलता” का कौन सा विकल्प समानार्थी अर्थ प्रस्तुत नहीं करता है?

A. गुत्थी
B. सौहार्द
C. उलझन
D. पेचीदगी
E. None of the above

Show Correct Answers

Correct Answer – B. सौहार्द

10. गद्यांश में प्रयुक्त शब्द “समीचीन” का समानार्थी शब्द कौन सा है? 

A. अविवेकपूर्ण
B. अनुचित
C. तर्कहीन
D. तर्कसंगत
E. None of the above

Show Correct Answers

Correct Answer – D. तर्कसंगत

Current Affairs PDF 2021– Download Ebooks

Try Attempt Daily Current affairs 2021 Quizzes on the latest current affairs questions and answers, this Daily Current Affairs 2021 resource yields the facts about the events of International Current affairs, National, Sports, Business, Banking Current Affairs 2021, and more which are Important for competitive exams as well as interviews.

A Complete Book of Last Six Months Economy & Banking Current Affairs Updates and Practice Questions with Union Budget & Economic Survey 2021

Download 2000+ Last 6 Months Current Affairs PDF January to June 2021 (MCQ) for Banking, SSC, and Railways Exams – Click Here
Monthly Current Affairs PDF June 2021 Monthly Current Affairs PDF May 2021
Monthly Current Affairs PDF April 2021 Monthly Current Affairs PDF March 2021
Monthly Current Affairs PDF Feb 2021 Monthly Current Affairs PDF Jan 2021

Important Static GK PDF for SSC, Railway & Banking Exams 2021– Download Free

Important Static GK PDF for SSC, Railway & Banking Exams 2021

 

Decision-Making Book for NABARD Grade A Exam 2022